Vajrasana in Hindi

वज्रासन के 20 फायदे, विधि, सावधानियां (Vajrasana in Hindi)

आजकल सभी लोग योग को गहराई से जानना चाहते हैं ऐसे में वज्रासन (Vajrasana in Hindi) को विस्तार से जानना जरूरी है क्योंकि वज्रासन के कई लाभ (Vajrasana Benefits in Hindi) हैं तो कई इससे जुड़ी सावधानियां भी।

योग एक ऐसी विधा है जिसे पाने के लिए कई नियम और शर्तो को पालन करना जरूरी होता है। नहीं तो कहा जाता है कि इसके प्रतिकूल प्रभाव भी हो सकता है।

ऐसे तो किसी भी योगासन को सुबह के समय खाली पेट करना ज्यादा उचित माना जाता है। परंतु वज्रासन (Vajrasana in Hindi) एकमात्र ऐसा आसन है जिसे खाना खाने के तुरंत बाद भी किया जा सकता है।

खाना खाने के तुरंत बाद वज्रासन करने से पाचन क्रिया में वृद्धि होती है एवं खाना आसानी से पचता है। इसके कई कारण हैं जो नीचे के लेख में बताया गया है।

क्या आप भी वज्रासन के लाभ (Vajrasana Benefits in Hindi) एवं इसके क्रिया विधि से अनजान हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। जानिए इस लेख में वज्रासन (Vajrasana in Hindi) को विस्तार से।

वज्रासन क्या है ? What is Vajrasana in Hindi –

यह बैठकर किया जाने वाला आसन है। वज्रासन (Vajrasana in Hindi) का शाब्दिक अर्थ वज्र यानी कठोर और आसन यानी मुद्रा होता है।
यह एकमात्र ऑप्शन है जिसे खाना खाने के तुरंत बाद भी किया जा सकता है। इसे वज्रासन इसलिए कहा जाता है क्योंकि इससे दृढ़ता आता है एवं नियमित करने से बुढ़ापा में भी वज्र के समान शरीर को बलवान तथा स्थिरता बना रहता है।

Vajrasana in Hindi

वज्रासन करने की विधि – Vajrasana Karne ki Vidhi in Hindi –

  • किसी नरम चटाई पर घुटने के बल खड़ा हो जाए।
  • दोनों पैरों के अंगूठे को आपस में स्पर्श कराकर रखें।
  • तलवा आकाश की तरफ हो एवं एड़ियों को बाहर की तरह खोलते हुए थोड़ा दूर रखें।
  • अब तलवों पर अपने नितंब को रखकर बैठ जाएं।
  • इस प्रकार बैठे कि दोनों एड़ियों के बीच के स्थान पर गुदाद्वार एवं गुप्तांग को रखें।
  • दोनों घुटनों को आपस में सटाकर रखें।
  • दोनों हाथों की हथेलियां को दोनों जांघों पर स्थापित करें।
  • कमर, मेरुदंड एवं गर्दन को सीधा रखें।
  • इस स्थिति में साधारण श्वास किया करें।
  • सहजता से आँखे बंद कर आती और जाति हुई साँस पर ध्यान केंद्रित करें।
  • अपनी क्षमता अनुसार इस आसन को शुरुआती में 1 मिनट तक करें।
  • धीरे-धीरे इसके समय को बढ़ाकर 5 से 10 मिनट तक कर सकते हैं।
  • सास को छोड़ते हुए पैरों को सीधा कर आराम करें।

वज्रासन के फायदे – Vajrasana Benefits in Hindi –

योग के कई लाभ हैं उसी में से एक है वज्रासन (Vajrasana in Hindi) जिसके भी कई लाभ (Vajrasana Benefits in Hindi) हैं जिसे नीचे विस्तार से बताया गया है।

  1. वायु विकार दूर करता है।
  2. पाचन शक्ति को बढ़ाता है।
  3. हर्निया और बाबासीर से परेशान व्यक्ति को लाभ मिलता है।
  4. कब्ज एवं अपच जैसी समस्या से छुटकारा दिलाता है।
  5. स्त्रियों की मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करता है।
  6. गठिया वात एवं जोड़ों के दर्द को होने से बचाता है।
  7. वज्रनाड़ी एवं वीर्यपाद नाड़ी को मजबूत कर वीर्यदोष से मुक्ति दिलाता है।
  8. स्मरण शक्ति को बढ़ाता है।
  9. आंखों की रोशनी को बढ़ाता है।
  10. चेहरे पर चमक आती है।
  11. वायु विकार के कारण होने वाले सिर दर्द को दूर करता है।
  12. पाचन तंत्र के लिए यह रामबाण आसन है।
  13. पैरों तथा जांघों के नसों को मजबूती मिलती है।
  14. वज्रासन करने से जठराग्नि बढ़ता है।
  15. मन की चंचलता कम होती है।
  16. ध्यान एकाग्रता में बढ़ोतरी होता है।
  17. तनाव दूर होता है।
  18. महिलाओं के लिए यह आसन बहुत जरूरी है इसे करने से स्त्री विकार दूर होता है एवं शरीर निरोगी बनता है।
  19. अंडकोष की सूजन में लाभदायक है।
  20. साइटिका के मरीज को भी यह आसन लाभदायक है।

और पढ़ें – कमर दर्द के 10 रामबाण योग आसन

वज्रासन करते समय सावधानियां – Vajrasana Precautions in Hindi-

वज्रासन (Vajrasana in Hindi) ऐसा आसन है जो कोई भी कर सकता है। लेकिन इसे करते समय भी कुछ बातों को ध्यान रखना जरूरी है। जैसे-

  • घुटनों में तेज दर्द हो तो इस आसन को ना करें।
  • एड़ियों में तेज दर्द या कोई बड़ी समस्या हो तो इस आसन को ना करें।
  • घुटनों की ऑपरेशन वाले व्यक्ति इस आसन को ना करें।
  • इस आसन को करते समय शरीर सीधा एवं साधारण अवस्था में रखें।
  • शरीर को तनाव न दे।

और पढ़ें – रामबाण 10 योग आसन पेट कम करने के

वज्रासन से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां – Some Important Point About Vajrasana in Hindi –

  1. इस आसन को करने से पेट के निचले हिस्से में रक्त संचार में वृद्धि होता है जिससे पाचन क्रिया में बढ़ोतरी एवं सुधार होता है।
  2. किसी भी व्यक्ति को इस आसन को खाना खाने के तुरंत बाद 10 से 15 मिनट जरूर करना चाहिए।
  3. ध्यान देने वाली बात यह है कि इस आसन को करते समय कमर गर्दन एवं मेरुदंड सीधा रखें।
  4. आंख बंद करके इस आसन में बैठने से ज्यादा लाभ मिलता है एवं मन शांत हो जाता है।
  5. इसे किसी साफ एवं सांत वातावरण में करें ज्यादा उचित होगा।
Vajrasana in Hindi

वज्रासन के प्रकार – Types of Vajrasana –

वज्रासन (Vajrasana in Hindi) की और कोई अन्य प्रकार नहीं है। लेकिन इसके नाम से मिलता जुलता एवं समान क्रिया वाले एक आसन है जिसे सुप्त वज्रासन ( Supta Vajrasana in Hindi ) कहा जाता है।

नीचे कुछ आसन के नाम बताया गया है जो वज्रासन (Vajrasana in Hindi) से संबंधित आसन हैं और इन आसनों को लगभग वज्रासन के द्वारा ही किया जाता है। जैसे-

  • वज्रासन
  • आनंद मदिरासम
  • पादादिरासन
  • शशांकासन
  • सुप्त वज्रासन
  • पर्यकाशन
  • उष्ट्रासन
  • कुर्मासन
  • भद्रासन
  • मंडूकासन या भेकासन
  • उत्तान मंडूकासन
  • मार्जरी आसन
  • व्याघ्रासन
  • विरासन

और पढ़ें – जाने मयूरासन के 15 लाभ, तरीका, सावधानियां

FAQ’s

Vajrasana kitni der karna chahiye ?

वज्रासन अपने छमता के अनुसार करें। यदि आप सक्षम है तो इस आसन को 10 से 15 मिनट तक कर सकते हैं।

Kaya arthritis me vajrasana karna chaiye ?

वैसे आर्थराइटिस के मरीज जिसके घुटनों में दर्द या सूजन है उसे वज्रासन नही करना चाहिए।

vajrasana ka piles me nuksan ?

बबासीर (पाइल्स) के मरीज को वज्रासन करने से लाभ मिलता है नुकसान नही होता है।

Kya vajrasana karne se thighs patle ho jate hai ?

वज्रासन करने से जांघ पतला नही मजबूत होता है।

Sone se pahle vajrasana kiya ja sakta hai ?

रात में भी खाना खाने के तुरंत बाद वज्रासन किया जा सकता है। आप चाहे तो इसे खभी भी कर सकते हैं।

इस लेख से आपने क्या सीखा –

इस लेख में वज्रासन (Vajrasana in Hindi) से संबंधित सभी जानकारियां विस्तार से प्राप्त किया जैसे – वज्रासन क्या है, वज्रासन करने की विधि, वज्रासन के लाभ (Vajrasana Benefits in Hindi) एवं फायदे, वज्रासन करते समय सावधानियां इत्यादि।

आपको यह लेख Vajrasana in Hindi से जुड़ी जानकारी कैसा लगा नीचे कॉमेंट बॉक्स में जरूर लिखे।आपके द्वारा किया गया कॉमेंट हमे अच्छी लेख लिखने के लिए प्रेरित करता है, और साथ मे ये भी जरुर बताए यदि लेख में कोई त्रुटि हो या सुधार की जरूरत हो तो अवश्य उसके बारे में लिखे जिससे हम सुधार कर त्रुटिहीन बना सेक।

इस लेख को अपने मित्रों एवं सगे संबंधियों को जरूर शेयर करे जिससे उन्हें भी इस आसन के फायदे (Vajrasana Benefits in Hindi) एवं इसे करने की विधि जानने में आसानी हो सके।

धन्यवाद…..

लेख स्रोत – विकिपीडिया और संपूर्ण योग विद्या

Visit us at –
Facebook
Instagram

शेयर करें👇मित्रों को

Leave a Comment

हेल्थ इन हिन्दी डॉट नेट इस वेबसाइट पर स्वास्थ्य से जुड़े कई टिप्स, घरेलू नुस्खें, दवाई का नाम, रोगो का निदान, योग क्रिया वाले लेख हैं। इन जानकारियों का उद्देश्य किसी चिकित्सा, निदान या उपचार के लिए विकल्प नहीं है। इस वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध टेक्स्ट, ग्राफिक्स, और सूचनाओं सहित सभी सामग्री केवल सामान्य जानकारी के लिए है।